समाचार
राष्ट्रीय राजमार्गों पर प्रत्येक 50 किमी पर एनएचएआई ईवी चार्जिंग स्टेशन स्थापित करेगा

इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) के मालिक शीघ्र ही बिना किसी चिंता के लंबा सफर तय कर सकते हैं। दरअसल, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने राष्ट्रीय राजमार्गों पर प्रत्येक 40 से 60 किलोमीटर पर चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने का लक्ष्य रखा है।

एनएचएआई ने 2023 तक चार्जिंग स्टेशनों के साथ लगभग 40,000 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों को कवर करने की योजना बनाई है। इसके तहत आगामी दो वर्षों में लगभग 700 चार्जिंग स्टेशन लगाए जाएँगे।

एनएचएआई के अध्यक्ष गिरिधर अरमाने ने द प्रिंट को दिए एक साक्षात्कार में बताया, “राष्ट्रीय राजमार्ग नेटवर्क के साथ योजनाबद्ध तरीके से ईवी चार्जिंग स्टेशन, रेस्त्रां, शौचालय, चालकों के लिए विश्राम कक्ष और पेट्रोल एवं डीजल वितरण मशीन आदि होंगे।”

उन्होंने कहा, “हमने मार्ग के किनारे 100 तरह की सुविधाओं के लिए बोली लगाई है और हमें अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। हर मार्ग के किनारे स्थापित की जाने वाली सुविधाओं के लिए कम से कम छह-सात बोलियाँ मिली हैं। एक बार बोलियों पर निर्णय होने के बाद काम पूरा होने में छह माह लगेंगे।”

गिरिधर अरमाने ने कहा, “जो कोई भी राष्ट्रीय राजमार्गों पर इलेक्ट्रिक वाहन से यात्रा करेगा और यदि वाहन बिगड़ या रुक जाता है तो उसे नुकसान नहीं होगा।”

सरकारी एजेंसियों के अतिरिक्त कई सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के दिग्गज ईवी को चार्ज करने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर के मोर्चे पर बड़ी योजना बना रहे हैं।

राज्य के स्वामित्व वाली हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) ने तीन वर्षों में 5,000 ईवी चार्जिंग स्टेशन बनाने की योजना बनाई है।