समाचार
ज़ाइडस कैडिला ने बच्चों के टीके ज़ायकोव-डी के आपातकालीन उपयोग की मांगी अनुमति

फार्मा कंपनी ज़ाइडस कैडिला ने औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) को आवेदन करके ज़ायकोव-डी के आपातकालीन उपयोग की स्वीकृति देने की मांग की है। यह वैक्सीन 12 से 18 वर्ष की उम्र के बच्चों के लिए कोविड-19 के विरुद्ध डीएनए वैक्सीन है।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने 28,000 से अधिक स्वयंसेवकों पर परीक्षण किया है और तीसरे चरण के नैदानिक परीक्षण के लिए परिणाम पेश किए हैं।

तीसरे चरण के नैदानिक परीक्षणों के अनुसार, ज़ाइकोव-डी 12 से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए पूरी तरह सुरक्षित हैं। ज़ाइडस कैडिला ने एक वर्ष में कोविड-19 की 10 करोड़ खुराक का उत्पादन करने की योजना बनाई है।

बता दें कि भारत बायोटेक के टीके कोवैक्सीन के दो से 18 वर्ष की उम्र के बच्चों पर किए गए दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के आँकड़ों के सितंबर तक आने की संभावना है। इसके अतिरिक्त, अमेरिकी कंपनी फाइज़र के टीकों को भी अनुमति मिलने की संभावना जताई जा रही है।

हाल ही में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एआईआईएमएस) के प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि बच्चों के लिए कोविड-19 टीकों की उपलब्धता एक महत्वपूर्ण उपलब्धि होगी। इससे स्कूल खुलने और उनके लिए बाहर की गतिविधियों का रास्ता खुलेगा।