समाचार
“राष्ट्रीय सुरक्षा” के लिए मलेशिया में कट्टरवादी ज़ाकिर नाइक के उपदेशों पर प्रतिबंध

मलेशिया में भड़काऊ भाषण देने की वजह से विवादित उपदेशक ज़ाकिर नाइक पर पूरे देश में सार्वजनिक रूप से उपदेश देने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। उसने हिंदुओं और चीनियों को लेकर विवादित भाषण दिया था।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, मलेशिया पुलिस ने बयान जारी किया, “ज़ाकिर नाइक पर प्रतिबंद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा को देखने के बाद लगाया गया है।” रॉयल मलेशिया के प्रमुख पीआर दतुक अस्मावती अहमद ने सरकारी आदेश मिलने की पुष्टि की है।

मालूम हो कि भारत में मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में वांछित ज़ाकिर को भारत प्रत्यर्पित न करने पर मलेशिया के प्रधानमंत्री मोहम्मद महातिर अड़े हुए थे। अब वही उनकी आंखों का काँटा बन गया है। भारत कई बार नाइक के प्रत्यर्पण का निवेदन कर चुका है।

बर्नामा न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, ज़ाकिर नाइक को पुलिस हेडक्वॉर्टर बुकित अमान में बयान दर्ज करने के लिए दोबारा बुलाया गया। हुजिर मोहम्मद ने कहा, “ज़ाकिर को शांति भंग करने से संबंधित मामले में अपना बयान दर्ज कराना होगा।”

कोटा बारु में ज़ाकिर नाइक ने मलयेशिया में रह रहे हिंदुओं और चीनियों को लेकर गलत टिप्पणी की थी। इसके बाद मलेशिया के मंत्रियों ने उसे भारत भेजने की मांग की थी। उसने हिंदुओं के लिए कहा था, “भारत में जितने अधिकार मुसलमानों को नहीं मिले हैं, उससे 100 गुना अधिक अधिकार हिंदुओं को दिए गए हैं।”