समाचार
खत्म हुआ ज़ाकिर मूसा का आतंक, पुलवामा में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में किया ढेर

कश्मीरी आतंकवादी बुरहान वानी का उत्तराधिकारी माना जाने वाला आतंकी ज़ाकिर मूसा को त्राल में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मार दिया गया। पुलिस के अनुसार, अब भी मारे गए आतंकवादियों की पहचान ठीक तरह से नहीं हो पाई है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में त्राल के डडसरा गाँव में गुरुवार शाम को आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। सुरक्षाबलों द्वारा घेरे जाने के बाद जवाबी फायरिंग में अंसार गजावत उल हिंद का प्रमुख मूसा मारा गया।

डिवीजनल कमिश्नर बेसर अहमद खान ने बताया, “अहतियात के तौर पर कश्मीर डिवीजन के स्कूल और कॉलेज 24 मई को बंद रहेंगे।”

हिजबुल मुजाहिद्दीन का पूर्व कमांडर और अल-क़ायदा सेल के अंसार गजावत उल हिंद का संस्थापक व प्रमुख ज़ाकिर मूसा उर्फ ज़ाकिर राशिद भट पढ़े-लिखे व तकनीकी रूप से सक्षम आतंकवादियों की नई पीढ़ी का हिस्सा था। राज्य सरकार के लिए काम करने वाले एक इंजीनियर के बेटे मूसा ने नवोदय विद्यालय से पढ़ाई की थी। 12वीं की परीक्षा देने के बाद वह पंजाब के एक इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ने चला गया, जहाँ वो कट्टरपंथी बन गया। इसके बाद वह पढ़ाई छोड़कर आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल होने चला गया था।

मूसा ने एक वीडियो जारी किया था, जिसमें उसने कश्मीर में इस्लामिक शासन और शरिया लागू करने के लिए धार्मिक लड़ाई लड़ने की बात कही थी। उसने धमकी दी थी कि वह हिंदुओं को मारकर ‘आजाद भारत’ बनाएगा।

अगस्त 2017 में आतंकवाद-रोधी अभियान में मूसा त्राल के नूरपोरा गाँव से स्थानीय लोगों के विरोध और पथराव के बीच बचकर निकल गया था। सुरक्षाबलों ने अब उसे उसी क्षेत्र में मार गिराया है।