समाचार
आईबी कांस्टेबल अंकित शर्मा की चांदबाग में उपद्रवियों द्वारा हत्या, नाले से शव बरामद

पूर्वोत्तर दिल्ली के चांदबाग क्षेत्र में 26 वर्षीय एक इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के कांस्टेबल अंकित शर्मा की पत्थर फेंकने वाली उपद्रवी भीड़ द्वारा हत्या कर दी गई। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, उनका शव एक नाले से बरामद किया गया है।

अंकित शर्मा 2017 में आईबी में शामिल हुए थे और एक चालक के रूप में एमटी विभाग में तैनात थे। जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, वे दिल्ली खजूरी क्षेत्र के निवासी थे। उन्हें मंगलवार रात (25 फरवरी) को भीड़ द्वारा पकड़ लिया गया था, जब वह अपनी नौकरी से लौट रहे थे।

कहा जा रहा है कि भीड़ ने उन्हें क्रूरतापूर्वक पीटा, जिससे उनकी मौत हो गई। कथित तौर पर उसके बाद उनके शव को एक नाले में फेंक दिया गया था। शव को अधिकारियों ने बरामद कर लिया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

एएनआई  की संपादक स्मिता प्रकाश ने कहा है कि शर्मा भीड़ द्वारा घेरे गए लोगों को बचाने का प्रयास कर रहे थे जिस कारण उन्हें पीटा व गोली से मारा गया।

मृतक अंकित शर्मा के पिता जो आईबी के हेड कांस्टेबल हैं, ने दावा किया है कि उनके बेटे को दंगाइयों ने गोली मार दी थी। पिता का कहना है कि परिवारवाले अंकित की शादी करवाना चाहते थे।

अंकित वर्दी में दूसरे व्यक्ति हैं, जिन्हें पूर्वोत्तर दिल्ली के दंगाइयों ने मार दिया है। मौजपुर में कुछ दिनों पहले दिल्ली पुलिस के सिपाही रतन लाल की पत्थरबाजों ने हत्या कर दी थी। इन दंगों में डीसीपी सहित कई अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे।