समाचार
मुख्तार अंसारी के करीबियों की करोड़ों की संपत्ति योगी सरकार ने की जब्त, लाइसेंस रद्द

माफिया डॉन से विधायक बने मुख्तार अंसारी के अवैध कारोबार पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने शिकंजा कसते हुए उनके गिरोह के सदस्यों और सहयोगियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है।

बताया गया की अंसारी के चार सहयोगियों के शस्त्र लाइसेंस रद्द किए गए। यह भी पता चला की माफिया डॉन के रिश्तेदारों और सहयोगियों के पास मौजूद शस्त्र लाइसेंसों में बड़े पैमाने पर अनियमितताएँ हैं।

पुलिस ने कथित रूप से मुख्तार अंसारी के शूटर बृजेश सोनकर की 58.91 लाख रुपये की संपत्ति जब्त की। 5 जुलाई को गाजीपुर जिला प्रशासन ने एक गोदाम को ध्वस्त किया, जो कथित रूप से सार्वजनिक भूमि पर अवैध रूप से कब्जा करके बना था। होटल से जुड़ी अनियमितताओं की भी जाँच की जा रही है।

गाजीपुर के डीएम ओपी आर्य के हवाले से कहा गया, “मेसर्स विकास कंस्ट्रक्शन द्वारा एक तालाब के स्थान पर गोदाम का निर्माण किया गया था। उसमें अंसारी की पत्नी अफसा बेगम और उनके बहनोई आतिफ राजा के अलावा तीन अन्य लोग ज़ाकिर हुसैन, रविंद्र नारायण सिंह और अनवर शहजादा साझेदार हैं।

39.80 करोड़ रुपये की संपत्ति को उनके रिश्तेदारों के अवैध कब्जे से मुक्त कर दिया गया है और उनके लाइसेंस निलंबित होने के बाद 33 हथियार विभिन्न जेलों में जमा किए गए हैं। उनके रिश्तेदारों और सहयोगियों से संबंधित अवैध संपत्ति की पहचान की जा रही है और 17 माफिया को चिह्नित किया गया है। इनमें तीन शराब माफिया, तीन गाय तस्कर और आपराधिक माफिया शामिल हैं।