समाचार
योगी आदित्यनाथ की विशेष पहल, अब संस्कृत में भी जारी होगी प्रेस विज्ञप्ति

संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार हिंदी, अंग्रेजी के अलावा संस्कृत भाषा में भी प्रेस विज्ञप्ति जारी करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर मुख्यमंत्री कार्यालय और सूचना विभाग में इसकी कवायद शुरू हो गई है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संस्कृत भाषा में प्रेस विज्ञप्ति जारी करने वाले पहले मुख्यमंत्री बन गए हैं। सूचना विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “अब मुख्यमंत्री के भाषण व सरकारी फैसलों की सूचना संस्कृत भाषा में भी मिलेगी।”

सूचना विभाग ने यह तय किया है कि भाषणों व सूचनाओं की जानकारी संस्कृत में अनुवाद करने के लिए लखनऊ स्थित राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान की मदद ली जाएगी। इसके पहले नीति आयोग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिए गए भाषण को संस्कृत में जारी किया गया था। अब आगे इसके विस्तार की योजना बनाई गई है।

मुख्यमंत्री योगी ने एक बयान में कहा था, “संस्कृत भाषा भारत के डीएनए में है। इसका उपयोग धार्मिक कार्यों में किया जाता है, जिसे अब बढ़ाने की आवश्यकता है।” दुर्भाग्यवश उत्तर प्रदेश में 25 पत्र-पत्रिकाएँ हैं, जो संस्कृत में मुद्रित होती हैं लेकिन उनमें से कोई भी दैनिक नहीं हैं।