समाचार
योगी सरकार की नई योजना से आवारा पशुओं की समस्या होगी दूर, रोजगार भी बढ़ेगा

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई वाली सरकार ने मुख्यमंत्री बेसहारा गौवंश सहभागिता योजना को मंजूरी दी है। इसके तहत मवेशियों को इच्छुक किसानों को सौंप दिया जाएगा और उनकी सेवा के बदले उन्हें भुगतान किया जाएगा।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, योगी सरकार ने खेतों में खड़ी फसलों को बर्बाद करने वाले आवारा पशुओं की समस्याओं को देखने के बाद यह निर्णय लिया है। सरकार ने खुद स्वीकारा कि गौशाला में आवारा पशुओं को रखना उनके लिए सिरदर्द साबित हो रहा है।

इस नई योजना के तहत सरकार द्वारा संचालित गौशाला के मवेशियों को इच्छुक किसानों को प्रकिया के तहत देखभाल के लिए सौंपा जाएगा। देखभाल करने वाले को प्रति पशु के हिसाब से 30 रुपये प्रतिदिन यानी 900 रुपये प्रति महीने का भुगतान होगा। यह राशि सरकार उक्त व्यक्ति के खाते में सीधे भेजेगी।

योगी सरकार का कहना है, 2012 की जनगणना के अनुसार प्रदेश में 205.66 लाख मवेशी हैं। इनमें लगभग 10-12 लाख अनुमानित आवारा पशु हैं। योजना के पहले चरण में 109 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। इससे आवारा पशुओं की समस्याओं का समाधान होगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।