समाचार
कुश्ती सहित दो खेलों को गोद लेने की योगी सरकार की घोषणा, 10 वर्ष करेगी वित्तपोषण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार (19 अगस्त) को कहा कि राज्य सरकार कुश्ती सहित दो खेलों को अंगीकृत करके आगामी 10 वर्षों तक उनका वित्तपोषण करेगी। लखनऊ स्थित अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में टोक्यो ओलंपिक में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के सम्मान समारोह के दौरान उन्होंने यह घोषणा की।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, योगी आदित्यनाथ ने कहा, “गोद लेने वाले दो खेलों में एक कुश्ती होगा और दूसरा खेल खेलकूद विभाग द्वारा चयनित किया जाएगा। सरकार प्रदेश के हर गाँव में एक खेल मैदान के निर्माण पर तेज़ी से काम कर रही है। मेरठ में खेल विश्वविद्यालय बन रहा है। हम मेजर ध्यानचंद के नाम पर एक खेल विश्वविद्यालय भी स्थापित करेंगे।”

उन्होंने बताया, “प्रदेश सरकार खेल कॉलेज में खिलाड़ियों की आहार धनराशि को भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) की तर्ज पर 250 रुपये से वृद्धि कर 375 रुपये प्रतिदिन प्रति खिलाड़ी करने जा रही है। साथ ही ओलंपिक, राष्ट्रमंडल, एशियाई खेलों और विश्व कप व विश्व चैंपियनशिप में प्रदेश के विजेता खिलाड़ियों को राजपत्रित पदों पर सीधी भर्ती के माध्यम से नियुक्ति प्रदान करने व पुलिस में भी उपाधीशक पद देने के लिए सहमति दी है।”

आखिर में मुख्यमंत्री ने कहा, “कोविड-19 महामारी के बीच में भारतीय खिलाड़ियों ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। यह गर्व की बात है कि भारत ने ओलंपिक के 18 खेलों में प्रतिभाग कर एक स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य सहित कुल सात पदक जीते। इसमें उत्तर प्रदेश के 10 खिलाड़ियों ने भी हिस्सा लिया था।”