समाचार
योगी आदित्यनाथ सरकार ने कैबिनेट बैठक में लव जिहाद कानून के प्रस्ताव को किया पास

उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे लव जिहाद के मामलों को लेकर सख्त हुई योगी आदित्यनाथ सरकार ने मंगलवार (24 नवंबर) को राज्य कैबिनेट की बैठक में इसको लेकर चर्चा की। बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर लगा दी गई।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, गृह विभाग ने इसका मसौदा पहले ही तैयार कर लिया था। इसको परीक्षण के लिए विधायी विभाग के पास भेजा गया था। अब मसौदे को राज्यपाल के पास भेजा जाएगा, जहाँ से स्वीकृति मिलने के बाद यह प्रभावी हो जाएगा।

कानून बनने के बाद गैर ज़मानती धाराओं में मामला दर्ज किया जाएगा और 5 वर्ष की कठोरतम सज़ा का प्रावधान होगा। कानपुर, बागपत, मेरठ समेत यूपी के कई शहरों से लगातार लव जिहाद की घटनाएँ सामने आ रही हैं, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने गृह विभाग से समीक्षा रिपोर्ट मांगी थी।

यूपी के विधि आयोग के मुख्य न्यायाधीश आदित्य नाथ मित्तल ने बताया, “आयोग ने 2019 में ड्राफ्ट सौंप दिया था। उस वक्त से अब तक इसमें तीन बार परिवर्तन किए जा चुके हैं। शादी के लिए गलत नीयत से धर्म परिवर्तन या धर्म परिवर्तन के लिए की जा रहीं शादियाँ भी नए नियम में धर्मांतरण कानून के तहत आएँगी।”