समाचार
1984 दंगों में कानपुर की घटनाओं के लिए योगी सरकार ने गठित किया जाँच दल

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार ने विशेष जाँच दल (एसआईटी) का गठन किया है जो इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भड़के सिख-विरोधी दंगों में कानपुर में हुई घटनाओं की जाँच करेगी, मंगलवार (5 फरवरी) रात को जारी आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया।

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अतुल इस दल का नेतृत्व करेंगे और इसमें चार सदस्य होंगे। जाँच दल से छः महीनों के भीतर रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है, बिज़नेस स्टैंडर्ड  ने बताया। इसके अन्य सदस्य सेवानिवृत्त जिला न्यायाधीश सिभाष चंद्र अग्रवाल और सेवानिवृत्त अतिरिक्त निदेशक (अभियोग) योगेश्वर कृष्ण श्रीवास्तव होंगे।

एसआईटी उन मामलों की जाँच करेंगे जिनकी फाइलें बंद हो चुकी हैं। ये उन मामलों की भी समीक्षा करेगी जहाँ आरोपी को कोर्ट में दोषी करार दिया गया है, जागरण  ने बताया।

कथित रूप से अगस्त 2017 में सर्वोच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को एसआईटी गठन करने के लिए नोटिस जारी किया था। कहा जाता है कि 1984 दंगों में कानपुर में 125 लोग मारे गए थे।