समाचार
बुलंदशहर हिंसा के महीने भर बाद मुख्य आरोपी माना जा रहा योगेश राज गिरफ्तार

मंगलवार रात से विशेष टास्क फोर्स (एसटीएफ), क्राइम ब्रांच और उत्तर प्रदेश पुलिस के दल बुलंदशहर हिंसा में मुख्य आरोपी माने जा रहे योगेश राज की गिरफ्तारी के लिए आसपास के जिलों में छानबीन कर रहे थे और गुरुवार (3 जनवरी) को उन्हें योगेश को गिरफ्तार कर सफलता मिली। इसके बाद उससे पूछताछ की जा रही है।

3 दिसंबर को गौहत्या की बात से भड़की हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार शहीद हो गए थे। इस घटना के बाद पुलिस ने 86 लोगों पर आरोप दर्ज किया था लेकिन इनमें से अभी तक मात्र 26 लोग गिरफ्तार किए गए हैं व सात ने आत्म समर्पण किया है, लाइव हिंदुस्तान  ने बताया।

हिंसा के बाद से फरार चल रहे बजरंग दल के जिला संयोजक आरोपी योगेश राज ने एक वीडियो जारी कर खुद को निर्दोष बताया था। इस वीडियो में योगेश राज ने कहा था कि जब इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या हुई तब वह घटनास्थल पर मौजूद नहीं था।

हिंसा के मामले में पुलिस द्वारा दर्ज किए गए नामों में से बजरंग दल के प्रखंड अध्यक्ष सतीश कुमार पुत्र चन्द्रभान निवासी चांदपुर पूठी और विनीत कुमार पुत्र नरेन्द्र सिंह निवासी ग्राम महाव ने सीजेएम कोर्ट में समर्पण कर दिया। न्यायालय से दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।