समाचार
वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे यशवंत सिन्हा बंगाल चुनाव से पूर्व तृणमूल में सम्मिलित

भाजपा नेता यशवंत सिन्हा शनिवार (13 मार्च) को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में सम्मिलित हो गए। उन्होंने कोलकाता के टीएमसी भवन में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, यशवंत सिन्हा ने कहा, “मेरे निर्णय से सभी चौंक गए हैं। मैं भाजपा की राजनीति से अलग हो गया था लेकिन आज हमारे देश के मूल्य संकट में हैं। उनका अनुपालन नहीं हो रहा है।”

उन्होंने कहा, “सरकार के मनमाने रवैये पर अंकुश लगाने वाला कोई बचा नहीं है। ममता बनर्जी की पार्टी बड़े बहुमत से सत्ता में वापसी करेगी। बंगाल से पूरे देश में संदेश जाना चाहिए कि जो कुछ मोदी और शाह दिल्ली से चला रहे हैं, उसे देश बर्दाश्त नहीं करेगा।”

यशवंत सिन्हा ने इस दौरान चुनाव आयोग पर भी गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा, “मैं अफसोस के साथ कह रहा हूँ कि चुनाव आयोग भी अब स्वतंत्र संस्था नहीं रह गई है। मोदी-शाह के नियंत्रण में ही बंगाल में आठ चरणों में चुनाव करवाने का निर्णय लिया गया।”

टीएमसी नेता संदीप बंदोपाध्याय ने कहा, “हम यशवंत सिन्हा का पार्टी में स्वागत करते हैं। उनकी भागीदारी हमारी पार्टी की भाजपा के खिलाफ लड़ाई को सशक्त करेगी।” बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में वह वित्त और विदेश मंत्रालय संभाल चुके हैं।