समाचार
कोरोनावायरस- वुहान के लोग कह रहे हैं कि 2500 नहीं, 40,000 लोगों की हुईं मौतें

वुहान के लोग चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की रिपोर्ट खारिज कर रहे, जिसमें कहा गया कि कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या करीब 2500 है। अधिकतर लोग कह रहे हैं कि इसकी वास्तविक संख्या करीब 40,000 है।

वुहान ने धीरे-धीरे लॉकडाउन खत्म करना शुरू कर दिया। शहर की कुछ मेट्रो सेवाएँ शुरू हो गईं। सीमाओं को खोल दिया गया और लोगों को मिलने की अनुमति दे दी गई।

खुद को माओ के रूप पहचानने वाले वुहान निवासी ने रेडियो फ्री एशिया से कहा, “हो सकता है कि अधिकारी जानबूझकर या अनजाने में वास्तविक आँकड़े जारी कर रहे हों, ताकि वास्तविकता से लोग धीरे-धीरे रूबरू हो सकें।”

रिपोर्ट के अनुसार, एक सप्ताह से अधिक समय से वुहान के कई बड़े अंतिम संस्कार गृह रोज करीब 500 परिवारों को अस्थि कलश दे रहे हैं। इन आँकड़ों को जब जोड़ा जाता है तो यह आधिकारिक तौर पर बदल जाता है। इस पर चीन की सरकार ने भी सवाल उठाए हैं।

कैक्सिन डॉट कॉम ने बताया, “एक दिन में हांकौ अंतिम संस्कार गृह को करीब 5,000 कलश दिए जा रहे।” झांग के रूप में पहचाने गए एक व्यक्ति ने आरएफए को बताया, “यह सही नहीं है क्योंकि गुप्चर 24 घंटे काम कर रहे हैं। इतने कम लोगों की मौत कैसे हो सकती है?”

वुहान निवासियों का कहना है कि सरकार परिवारों को चुप रहने के बदले अंतिम संस्कार भत्ते के लिए 3,000 युआन का भुगतान कर रही है।

वुहान के चेन याओहुई ने 5 अप्रैल को होने वाले पारंपरिक कब्रिस्तान उत्सव के बारे में कहा, “कुछ दिनों में बहुत सारे अंतिम संस्कार हुए। अधिकारी 3,000 युआन ऐसे परिवारों को दे रहे, जो प्रियजनों को किंग मिंग के आगे रखे हुए हैं। महामारी के दौरान उन्होंने दाह संस्कार करने वाले लोगों को चीन से वुहान बुलाया था।”