समाचार
मोदी को विभाजक कहने वाले आतिश अली तासीर का तथ्य छिपाने पर ओसीआई कार्ड रद्द

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विभाजित करने वाले की संज्ञा देने वाले बिट्रेन में जन्मे पाकिस्तानी मूल के लेखक आतिश अली तासीर का भारत का विदेशी नागरिकता (ओसीआई) कार्ड रद्द कर दिया गया है। यह कार्रवाई उनके पाकिस्तान मूल के होने के तथ्य को छुपाने को लेकर की गई है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, आतिश अली तासीर ने यह बात छिपाई की उनके पिता पाकिस्तानी मूल के थे। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया, “नागरिकता अधिनियम 1955 के अनुसार, तासीर ओसीआई कार्ड के लिए अयोग्य हो गए हैं। यह कार्ड किसी ऐसे व्यक्ति को जारी नहीं किया जाता है, जिसके माता-पिता या दादा-दादी पाकिस्तान के हों।”

आतिश तासीर के पिता सलमान तासीर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के राज्यपाल थे, जिनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। गृह मंत्रालय ने कहा, “तासीर ने बुनियादी जरूरतों को पूरा नहीं किया और जानकारियों को छिपाया। अगर किसी ने धोखाधड़ी कर ओसीआई कार्ड हासिल किया है तो कार्ड धारक का पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा और उसे काली सूची में डाल दिया जाएगा।”

गृह मंत्रालय के ओसीआई कार्ड रद्द किए जाने पर तासीर ने भी सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ट्वीट किया, “मुझे जवाब देने के लिए 21 दिन नहीं बल्कि 24 घंटे दिए गए थे।” मंत्रालय इस बात से इनकार कर रहा है कि सरकार टाइम पत्रिका में आलेख लिखने के बाद से तासीर के ओसीआई कार्ड को रद्द करने पर विचार कर रही थी।