समाचार
उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के काम में तेज़ी, राज्य के विकास में देगा सहयोग

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को क्रियान्वित करने वाले उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने ट्वीट कर यह बताया है कि 354 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का निर्माण तेज़ी से चल रहा है।

देश के सबसे बड़े एक्सप्रेसवे में से एक पूर्वांचल एक्सप्रेसवे लखनऊ जिले के चंद सराय से शुरू होकर ग़ाज़ीपुर जिले के हैदरिया तक बनेगा। इस परियोजना कार्य का शिलान्यास पिछले वर्ष प्रधानमंत्री मोदी ने किया था। अखिलेश यादव के कार्यकाल में यह कार्य शुरू किया गया था लेकिन उस समय किसी कारणवश यह काम नहीं हो पाया था। मोदी सरकार के आने के बाद इसे फिर से शुरू किया गया है।

एक्सप्रेसवे को उत्तर प्रदेश में वाराणसी से भी जोड़ा जाएगा। इस परियोजना के पूरे होने से यह उत्तर प्रदेश के 9 जिलों- लखनऊ, ग़ाज़ीपुर, फैज़ाबाद, मऊ, अम्बेडकरनगर, बाराबंकी और सुल्तानपुर- को सीधा जोड़ने का काम करेगा। साथ ही यह इन सभी जिलों को यमुना एक्सप्रेसवे और आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से भी जोड़ेगा।

एक्सप्रेसवे के निर्माण के बाद यह प्रदूषण और दुर्घटनाओं में कमी लाएगा साथ ही यात्रा के समय को भी बचाने में मदद करेगा। यह एक्सप्रेसवे राज्य को पूर्व जिलों को को पश्चिमी जिलों से जोड़ेगा और इसी तरह यह राज्य के विकास का सबसे बड़ा कारण बनेगा।