समाचार
हाई स्पीड रेल का काम शुरू, दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर डिज़ाइन के लिए बोलियाँ आमंत्रित

नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन ने दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल कॉरिडोर की परियोजना रिपोर्ट तैयार करने के लिए आवश्यक डाटा संग्रह, डिज़ाइन और सर्वेक्षण कार्य के लिए बोलियाँ आमंत्रित की हैं।

दिल्ली-वाराणसी गलियारा 865 किमी लंबा होगा और दूरी को महज चार घंटे में पूरा करने की योजना है। स्थानीय स्तर पर निर्मित ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस का हाल ही में उद्घाटन किया गया था, जो आठ घंटे में दिल्ली से वाराणसी पहुँचती है।

इसके अलावा, वाराणसी को पश्चिम बंगाल में हावड़ा के साथ जोड़ा जाना प्रस्तावित है, जो कि एक और 760 किमी की दूरी पर गलियारे का विस्तार है।

एनएचएसआरसी के एक अधिकारी ने इकोनॉमिक टाइम्स के हवाले से बताया, “अंतरिम विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने के लिए प्रासंगिक डाटा का संग्रह प्रक्रिया के तहत हो रहा है। सर्वेक्षण रिपोर्ट और सरकार के परामर्श के बाद स्टेशनों का स्थान प्रस्तावित होगा।”

आमंत्रित की गई बोलियों में पर्यावरणीय प्रभाव मूल्याँकन, डाटा संग्रह, एलआईडीएआर सर्वेक्षण का उपयोग कर एलाइनमेंट डिजाइन और अन्य प्रारंभिक कार्य शामिल हैं। प्रस्तावित किए जा रहे अन्य गलियारों में मुंबई-नागपुर, चेन्नई-मैसूरु, दिल्ली-अमृतसर, मुंबई-हैदराबाद और दिल्ली-अहमदाबाद शामिल हैं।