समाचार
2022 तक भारतीय साइबर सुरक्षा बाज़ार डेढ़ गुना बढ़कर 3 अरब डॉलर का होगा
आईएएनएस - 5th December 2019

पीडब्ल्यूसी इंडिया और भारत डाटा सुरक्षा परिषद (डीएससीआई) ने कहा, “भारत में साइबर सुरक्षा बाज़ार 1.97 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2022 तक 3.05 अरब डॉलर हो जाएगा।”

साइबर सिक्योरिटी इंडिया मार्केट की रिपोर्ट के अनुसार, सुरक्षा खर्च में बैंकिंग, वित्तीय सेवाओं और बीमा (बीएफएसआई) क्षेत्र की सबसे बड़ी हिस्सेदारी है। सरकारी क्षेत्र में 13.8 प्रतिशत सीएजीआर से बढ़कर मांग 2022 तक 581 मिलियन डॉलर तक पहुँचने की उम्मीद है।

अनुमानों के मुताबिक, डाटा संरक्षण और समापन बिंदु सुरक्षा उपकरण तीन वर्षों में क्रमशः 22.2 प्रतिशत और 19.1 प्रतिशत की सीएजीआर से बढ़ेंगे, जबकि कुल श्रेणी विकास दर 16.9 प्रतिशत थी। इस रिपोर्ट को सीएसीआई ने अपने प्रमुख कार्यक्रम वार्षिक सूचना सुरक्षा शिखर सम्मेलन (एआईएसएस) 2019 के 14वें संस्करण में जारी किया।

राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक राजेश पंत ने कार्यक्रम में कहा, “भारत 2024 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने पर साइबर सुरक्षा उल्लंघनों और साइबर अपराधों के कारण होने वाले नुकसान को बर्दाश्त नहीं कर सकता है। इसको देखते हुए सरकार एक राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति लेकर आ रही है। यह भारत की समृद्धि के लिए सुरक्षित माहौल, विश्वसनीयता और जीवंत साइबर स्पेस सुनिश्चित करेगी।”