समाचार
कोविड-19 जाँच क्षमता 347 सरकारी व 137 निजी प्रयोगशालाओं संग 1 लाख प्रतिदिन

भारत में कोविड-19 के खिलाफ जंग में एक प्रमुख विकास के रूप में सामने आया है कि देश ने एक दिन में परीक्षणों की दैनिक सीमा को सफलतापूर्वक बढ़ाकर 1 लाख से अधिक कर दिया है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि देशभर में सरकार की ओर से संचालित परीक्षण गतिविधियों वाली प्रयोगशालाओं की संख्या 347 से अधिक हो गई है। वहीं, 137 निजी प्रयोगशालाएँ भी परीक्षण कर रही हैं।

भारत में कोविड-19 परीक्षणों की संख्या 20 लाख के करीब है। इनकी कुल परीक्षणों की संख्या पहले ही 17,62,840 को पार कर चुकी है।

इस बीच, पिछले 14 दिनों में कुल कोविड-19 मामलों के दोगुना होने का अनुपात 10.9 दिन था लेकिन अब यह पिछले तीन दिनों में बढ़कर 12.2 दिन हो गया है। वायरस की वजह से दुनियाभर में 7 से 7.5 प्रतिशत की दर से लोगों की जान जा रही है लेकिन भारत में यह दर 3.2 प्रतिशत है।

भारत में वर्तमान वायरस से ठीक होने वालों की दर 31.74 प्रतिशत है। कोरोनावायरस की महामारी को आगे रोकने के बारे में स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि राज्यों को गंभीर तीव्र श्वांस बीमारी (एसएआरआई) और इंफ्लूएंजा जैसी बीमारी (आईएलआई) से पीड़ित लोगों की निगरानी बढ़ाने के लिए निर्देशित किया गया है।