समाचार
पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी रही तो राष्ट्रपति शासन की मांग करेंगे- भाजपा नेता राहुल सिन्हा

पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन अधिनियम पर बड़े पैमाने पर जारी हिंसक विरोध प्रदर्शन पर शनिवार (14 दिसंबर) को भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा कि अगर राज्य में ऐसी स्थिति बनी रहती है तो भाजपा राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करेगी।

एनडीटीवी की खबर के अनुसार सिन्हा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जारी हिंसक विरोध प्रदर्शन और राज्य में सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाने के पीछे अवैध बांग्लादेशी मुस्लिम घुसपैठियों का हाथ है।

सिन्हा ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तुष्टिकरण की राजनीति कर रही हैं जिस वजह से राज्य में दिन प्रतिदिन स्थितियाँ बिगड़ती जा रही हैं।

बनर्जी पर आरोप लगाते हुए सिन्हा ने कहा, “उन्होंने (ममता बनर्जी) राज्य में नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में बढ़ती हिंसक घटनाओं को रोकने के लिए कम काम किया है।”

“हमने (भाजपा) कभी भी राष्ट्रपति शासन का समर्थन नहीं किया है। लेकिन अगर पश्चिम बंगाल में ऐसी अराजकता जारी रहती है, तो हमारे पास राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने के अलावा कोई विकल्प नहीं रह जाएगा। ममता सरकार सिर्फ एक मूकदर्शक बनी हुई है जबकि पूरा राज्य जल रहा है।”, सिन्हा ने कोलकाता में संवाददाताओं से कहा।

सिन्हा ने यह भी कहा कि पश्चिम बंगाल में हिंसा बांग्लादेशी मुस्लिम समुदाय के कारण है। सिन्हा ने आगे कहा कि बंगाली मुसलमानों को सतर्कता बरतनी चाहिए ताकि उनका नाम दंगाइयों द्वारा कलंकित ना होने पाए।