समाचार
प्रियंका शर्मा को रिहा न करने पर सर्वोच्च न्यायालय ने ममता सरकार को लगाई फटकार

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मीम बनाकर उसे सोशल मीडिया में वायरल करने वाली भाजपा नेता प्रियंका शर्मा को तत्काल रिहा न करने पर सर्वोच्च न्यायालय ने पश्चिम बंगाल सरकार को फटकार लगाई है।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार सुबह प्रियंका शर्मा को रिहा करने में देरी की जानकारी होने पर सर्वोच्च न्यायालय ने राज्य सरकार के खिलाफ आदेश का पालन न करने पर अवमानना नोटिस जारी करने की धमकी दी थी।

भाजपा के युवा नेता की वास्तविक रिहाई पश्चिम बंगाल सरकार के अनुसार सुबह 9:40 बजे हुई है। अदालत ने सरकार से पूछा, “उसे तत्काल रिहा क्यों नहीं किया गया।” इस पर पश्चिम बंगाल सरकार ने औपचारिकताएँ पूरी करने में वक्त लगने का हवाला दिया।

प्रियंका के वकील एनके कौल ने अदालत को सूचित किया था कि पुलिस अधिकारियों ने माफी पत्र पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर करने के बाद ही उन्हें रिहा किया था।

भाजपा नेता ने प्रियंका चोपड़ा के मेट गाला लुक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री का फोटो लगाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। इसके बाद तृणमूल कांग्रेस के नेता की शिकायत पर उन्हें गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया था।

रिहा होने के बाद प्रियंका शर्मा ने कहा, “मुझे मंगलवार को ही जमानत मिल गई थी लेकिन मुझे 18 घंटे बाद रिहा किया गया। मुझे अपने वकील और परिवार से मिलने से भी मना कर दिया गया। मैं इस मामले को आगे तक ले जाऊँगी।”