समाचार
वॉट्सैप ने जानकारी चुराने वाले स्पाइवेयर का पता लगाया, अपडेट करें ऐप

वॉट्सैप ने सेंध लगाने वाले स्पाइवेयर का पता लगाया है, जो आपके मोबाइल से महत्वपूर्ण जानकारियाँ चुरा सकता है। यह आईफोन और एंड्राइड दोनों को प्रभावित कर सकता है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, यह स्पाइवेयर बग एक साधारण से वॉट्सैप कॉल के जरिए इंस्टॉल हो सकता है, जो आपके कॉल लॉग, ईमेल, संदेश, फोटो आदि का डेटा चुरा सकता है।

वॉट्सैप ने इसी महीने इसका पता लगाया था। इसके बाद उसने अपने सर्वर को सुरक्षित रखने के लिए 10 मई को एक सॉफ्टवेयर अपडेट जारी किया। उसके अगले दिन उपयोगकर्ताओं को एक सुरक्षा पैच जारी किया।

कंपनी ने आधिकारिक बयान में कहा, “इस हमले में एक निजी कंपनी सामने आ रही है, जो सरकार के साथ काम करने के लिए जानी जाती है। वो स्पाइवेयर वितरण के लिए काम करती है।”

इस कोड को कथित रूप से इजराइल की साइबर इंटेलिजेंस कंपनी एनएसओ ग्रुप द्वारा विकसित किया गया था। भले ही इसमें आपने कॉल का जवाब न दिया हो लेकिन यह इंस्टॉल होने के बाद कॉल डीटेल से गायब हो जाएगा। इसके बाद यह पता लगाना असंभव होता है कि कॉल और बग कहाँ हैं।

वॉट्सैप के प्रभावित संस्करणों में एंड्रायड v2.19.134 व उससे पहले के वर्जन, एंड्रायड बिजनेस के v2.19.44 व उससे पहले के वर्जन, आईओएस के v2.19.51 व उससे पहले के वर्जन, आईओएस बिजनेस के v2.19.51 व उससे पहले के वर्जन, विंडोज फोन के v2.18.348 व उससे पहले के वर्जन और टिजेन के v2.18.15 व उससे पहले के वर्जन शामिल हैं।

सॉफ्टवेयर को कथित तौर पर इजरायली कंपनी द्वारा यूके स्थित वकील की जासूसी करने के लिए विकसित किया गया था। उस वकील ने पिछले दिनों एक मैक्सिकन पत्रकार, इजरायल सरकार के आलोचकों और सऊदी अरब के एक व्यक्ति को एनएसओ पर मुकदमा करने में मदद की थी।