समाचार
“पश्चिम बंगाल में गत डेढ़ माह में 30 से अधिक भाजपा कार्यकर्ता मारे गए”- दिलीप घोष

भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार (15 जून) को कहा कि डेढ़ माह पूर्व चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद से पार्टी के 30 से अधिक कार्यकर्ता मारे गए हैं।

उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को राज्य सरकार द्वारा चक्रवात प्रभावित पीड़ितों के लिए दिए जाने वाले लाभों से भी वंचित किया जा रहा है।

दिलीप घोष ने कहा, “गत डेढ़ माह में हमारे कम से कम 30-32 कार्यकर्ता मारे गए हैं लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मुद्दे पर कभी कोई चर्चा नहीं की। टीएमसी के राजनीतिक विरोधियों पर हिंसक हमलों से प्रशासन को कोई फर्क नहीं पड़ता है।”

द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने मुकुल रॉय (टीएमसी में फिर से सम्मिलित होने के लिए हाल ही में भाजपा को छोड़ दिया था) को विधायक के रूप में पद छोड़ने के लिए कहा क्योंकि मुकुल ने भाजपा के टिकट पर कृष्णानगर उत्तर सीट जीती और एक नैतिक उदाहरण स्थापित किया था।

भाजपा की स्थिति के बारे में सोशल मीडिया पर अपनी शिकायतें पोस्ट करने वालों के विरुद्ध उन्होंने कहा, “घर में बैठे लोग ट्वीट और उसके विरोध में किए जाने ट्वीट्स में खुद को व्यस्त रखें। क्षेत्र में बाहर काम करने वालों के पास इसके लिए समय नहीं होता है।”