समाचार
आईएएफ को कोलकाता के दो अस्पतालों पर पुष्प वर्षा की ममता सरकार ने नहीं दी मंज़ूरी

ममता बनर्जी की अगुआई वाली पश्चिम बंगाल सरकार ने कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लड़ने वाले कोलकाता के दो अस्पतालों में फूलों की बौछार करने के लिए भारतीय वायु सेना (आईएएफ) द्वारा किए गए अनुरोध को अनुमति देने से इनकार कर दिया।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, देश के कोविड-19 योद्धाओं का आभार व्यक्त करने के लिए यह सैन्य पहल का एक हिस्सा था। कोलकाता में पुष्प वर्षा के लिए चुने गए अस्पतालों में आईडी एंड बीजी अस्पताल और पूर्वी कमांड अस्पताल थे।

आईएएफ के हेलीकॉप्टरों ने देश की 23 जगहों पर अस्पतालों में पुष्प वर्षा की, जिनमें दिल्ली, लेह, चंडीगढ़, देहरादून, मुंबई, जयपुर, दिसपुर, ईटानगर, त्रिवेंद्रम और चेन्नई शामिल हैं। वायुसेना ने एक बयान में कहा था, “हेलिकॉप्टरों की सुबह 9 बजे पुलिस वॉर मेमोरियल पर पुष्प वर्षा करने की योजना है। इसके बाद दिल्ली के अस्पतालों में सुबह 10 बजे से 10.30 बजे के बीच कोविड-19 के मरीजों को राहत दी जाएगी।”

दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र के अस्पतालों की सूची में एम्स, दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल, जीटीबी अस्पताल, लोकनायक अस्पताल, राम मनोहर लोहिया अस्पताल, सफदरजंग अस्पताल, श्री गंगा राम अस्पताल, बाबा साहेब अम्बेडकर अस्पताल, मैक्स साकेत, रोहिणी अस्पताल, अपोलो इंद्रप्रस्थ अस्पताल और सेना अस्पताल अनुसंधान व रेफरल शामिल हैं। विमानों ने विशेष रूप से पक्षी गतिविधियों के संबंध में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 500 मीटर से 1000 मीटर की अनुमानित ऊँचाई पर ही उड़ान भरी।