समाचार
राज्यपाल जगदीप धनखड़ को ममता सरकार से नहीं मिला हेलिकॉप्टर, सड़क से होगी यात्रा

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की अगुआई वाली तृणमूल सरकार और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच संबंधों में फिर से खटास देखने को मिली है। उन्होंने कोलकाता से मुर्शिदाबाद की यात्रा के लिए हेलिकॉप्टर का अनुरोध किया गया था पर उसे अस्वीकार कर दिया गया।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, राज्यपाल को अब सड़क से करीब 600 किमी की यात्रा करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। मुर्शिदाबाद में प्रोफेसर सैयद नुरुल हसन कॉलेज के सिल्वर जुबली कार्यक्रम के लिए राज्यपाल को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है। इस कार्यक्रम के लिए उनकी पत्नी भी साथ में यात्रा करेंगी।

राज्यपाल कार्यालय के अनुसार, उन्होंने राज्य सरकार को पहले से ही उक्त तिथि को हेलिकॉप्टर की सुविधा मुहैया करवाने के लिए अवगत कराया था लेकिन प्रशासन की तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

इससे पहले भी इसी हफ्ते सरकार ने राज्यपाल को नदिया जिले के शांतिपुर में एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए हेलीकॉप्टर देने से इनकार कर दिया था। राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा, “प्रशासनिक कारणों से हेलिकॉप्टर उपलब्ध नहीं कराया जा सका है।”

वरिष्ठ मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने बताया, “हेलिकॉप्टर की मांग में स्पष्ट कारण नहीं बताया गया था। कई बार हेलिकॉप्टर उपलब्ध ना होने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी कार से लंबी दूरी की यात्रा करती हैं।”

बता दें कि तृणमूल कांग्रेस सरकार ने राज्यपाल की नियुक्ति के बाद उन पर राजनीतिक चरित्र की तरह काम करने का आरोप लगाया था। इस पर राज्यपाल धनखड़ ने जवाब दिया था कि स्थानीय अधिकारियों के साथ मुकालात करने के लिए राज्यभर में उनकी यात्रा में असुविधा पैदा की जा रही थी क्योंकि कुछ लोग सच्चाई को छिपाना चाहते थे।