समाचार
अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा के बीच भेल ने जीता 660 मेगावाट बिजली संयंत्र का अनुबंध

सोमवार (31 दिसंबर) को भारत हेवी एलेक्ट्रीकल्स लिमिटेड (भेल) ने घोषणा की कि अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा के बीच यह पश्चिम बंगाल में 3500 करोड़ रुपए मूल्य के 660 मेगावाट क्षमता वाले सुपरक्रिटिकल थर्मल बिजली संयंत्र का अनुबंध पाने में सफल रही, इकोनॉमिक टाइम्स  ने रिपोर्ट किया।

“पश्चिम बंगाल के मुर्शीदाबाद जिले में मनीग्राम गाँव में सागरदिघी थर्मल बिजली संयंत्र के विस्तार की 660 मेगावाट क्षमता वाली युनिट 5 का अनुबंध पश्चिम बंगाल बिजली विकास निगम (डब्ल्यूबीपीडीसी) द्वारा भेल को दिया गया।”, कंपनी ने बताया।

रिपोर्ट के अनुसार इस ऑर्डर में डिज़ाइन, अभियांक्षिकी, निर्माण, आपूर्ति, परीक्षण व मुख्य प्लांट का प्रवर्तन उल्लेखित है जिसमें सुपरक्रिटिकल बॉइलर, टर्बाइन व अन्य यंत्र सम्मिलित हैं। कंपनी ने बताया कि यह परियोजना स्वच्छ बिजली के उत्पादन में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगी क्योंकि कुशल यंत्रों की सहायता से कम ईंधन में अधिक बिजली का उत्पादन किया जा सकेगा।

संयंत्र के प्रमुख उपकरण भेल के तिरुचि, भोपाल और हैदराबाद स्थित प्लांट में निर्मित होंगे।