समाचार
“देश के कुछ स्थानों में हम संक्रमण के तीसरे चरण में प्रवेश कर चुके”- एम्स निदेशक

भारत के कुछ हिस्सों में कोरोनोवायरस के तीसरे चरण या समुदाय प्रसारण की शुरुआत हो गई है। यह कहना अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया का है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने साफ किया कि देश का अधिकांश हिस्सा अभी दूसरे चरण से ही गुजर रहा है। कुछ चुनिंदा शहरों जैसे मुंबई में इस वायरस का तीसरा चरण शुरू हो गया है।

आजतक से बातचीत में डॉक्टर गुलेरिया ने स्वीकारा कि भारत दूसरे और तीसरे चरण के बीच में था। फिर भी कुछ क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 के सकारात्मक मामलों की संख्या में बहुत तेजी से बढ़ोतरी हुई है। कुछ जगहों पर वायरस का समुदाय प्रसारण हो रहा है। शुरुआत में इसे रोका जा सकता था पर अब हमें ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार (6 अप्रैल) सुबह 9 बजे तक दिए गए नवीनतम आँकड़ों के अनुसार, भारत में संक्रमित लोगों की संख्या 4067 हो गई, जबकि 109 लोगों की इससे मौत हो चुकी है। गत 12 घंटों में करीब 490 नए मामले आए और 26 नई मौतें हुई हैं।

एम्स प्रमुख ने तबलीगी जमात के बारे में बात की और कहा, “ये मामलों में अचानक आई तेजी का मुख्य कारण हैं। उन्होंने उन सभी लोगों को तलाशने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया, जो धार्मिक सभा में शामिल हुए थे या बाद में जमात के संपर्क में आए थे। ऐसे में उन्हें अलग करना और उनका परीक्षण करना बहुत ज़रूरी है।”

लॉकडाउन के बढ़ने की संभावना के बारे में उन्होंने कहा, “इस बारे में स्थिति 10 अप्रैल के बाद स्पष्ट होगी क्योंकि अधिकारियों को कुछ महत्वपूर्ण आँकड़े मिले हैं। वरिष्ठ चिकित्सक ने लोगों से डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों का समर्थन करने का आग्रह किया क्योंकि वे भी संक्रमित होने के उच्च जोखिम से गुज़र रहे हैं।”