समाचार
ममता बनर्जी पर बंगाल राज्यपाल धनखड़ का निशाना- “जनता की सेवा के ऊपर अहंकार”

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मंगलवार (1 जून) को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक को लेकर गलत बयान देने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख की बैठक से जल्दी निकलने की कहानी को भी गलत बताया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, राज्यपाल ने ट्वीट कर ममता बनर्जी पर टिप्पणी की है कि प्रधानमंत्री की बैठक से एक दिन पहले उन्होंने संकेत दिया था कि अगर शुभेंदु अधिकारी को बैठक में बुलाया गया तो वे उसका बहिष्कार करेंगी।

जगदीप धनखड़ ने ट्विटर पर लिखा, “गलत नैरेटिव से विवश होकर मैं बात स्पष्ट कर रहा हूँ। 27 मई की रात 11.15 बजे ममता बनर्जी ने मुझे संदेश भेजा था कि क्या मैं आपसे बात कर सकती हूँ। यह अति आवश्यक है।”

उन्होंने आगे लिखा, “फिर मुझे फोन करके उन्होंने संकेत दिए थे कि वे और उनके अधिकारी बैठक का बहिष्कार कर सकते हैं, यदि उसमें शुभेंदु अधिकारी को भी बुलाया गया। इस तरह जनता की सेवा पर अहंकार को तरजीह दी गई।”

बता दें कि पश्चिम बंगाल में यास चक्रवात से हुए नुकसान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कलाईकुंडा में समीक्षा बैठक के लिए पहुँचे थे। वहाँ ममता बनर्जी और मुख्य सचिव 30 मिनट देरी से पहुँचे थे। बैठक में नुकसान की रिपोर्ट देने के कुछ देर बाद मुख्यमंत्री वहाँ से निकल गई थीं।