समाचार
किसान प्रदर्शनकारियों ने लाल किले पर फहराया झंडा, निर्धारित मार्ग छोड़ दिल्ली में घुसे

किसान प्रदर्शनकारियों ने मंगलवार (26 जनवरी) को सरकार से किया अपना वादा तोड़ दिया और ट्रैक्टर परेड के बहाने दिल्ली में घुसते ही बड़ी हिंसा में शामिल हो गए। इस हिंसा ने दिल्ली पुलिस के जवानों पर हमला करने, उनके वाहनों के साथ डीटीसी बसों में तोड़फोड़ भी की। उसी के वीडियो को एएनआई द्वारा साझा किया गया है।


लाल किलो पर पहुँचकर किसान प्रदर्शनकारियों में से एक ने वहाँ झंडा फहरा दिया। पुलिस ने उन्हें समझाकर नीचे उतारने का प्रयास किया। कनॉट प्लेस को बंद करने का निर्देश दिल्ली पुलिस ने जारी कर दिया है।

पूर्व में यह बताया गया था कि ट्रैक्टर परेड के आंदोलनकारी किसानों ने पुलिस द्वारा स्थापित बैरिकेडों को तोड़कर राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह के बीच सिंघू और टीकरी सीमाओं से दिल्ली में अपना रास्ता बना लिया।

किसानों में से एक ने तलवार का उपयोग करके पुलिसकर्मियों पर हमला करने की कोशिश की। यही नहीं, कुछ ने तो पानी की बौछार करने वाले वाहन के ऊपर चढ़कर उस पर कब्जा कर लिया।

आइटीओ पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प हुई। इस बीच, पुलिस ने किसानों पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज भी किया। यहीं पर किसानों ने ट्रैक्टर दौड़ा कर पुलिसकर्मियों पर चढ़ाने की भी कोशिश की। गाजीपुर, आइटीओ और नांगलोई में किसानों ने पुलिस की मौजूदगी में ही बैरिकेड तोड़ डाले।