समाचार
पश्चिमी मालवाहक गलियारे के 306 किलोमीटर लंबे अजमेर-रेवाड़ी खंड को हरी झंडी

रविवार (30 दिसंबर) को पश्चिमी समर्पित मालवाहक गलियारे (डब्ल्यूडीएफसी) का 306 किलोमीटर लंबे एक खंड का क्रियान्वयन आरंभ हो गया। उत्तर-पश्चिम रेलवे की तरफ से इसका एक वीडियो भी साझा किया गया है। यह खंड अजमेर के मदार से रेवाड़ी के किशनगढ़ बालवास के बीच बनाया गया है तथा इसे भरतीय रेल के लिए एक बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।

15 अगस्त 2018 को 192 किलोमीटर लंबे पश्चिमी समर्पित मालवाहक गलियारे के अटेली-फुलेरा खंड पर पहली बार मालगाड़ी दौड़ी थी। तब मालगाड़ी अटेली स्टेशन से एक भव्य समारोह के बाद रवाना की गई थी।

2020 तक डब्ल्यूडीएफसी का कार्य पूर्ण होने की उम्मीद है तथा यह 1,054 किलोमीटर लंबा मार्ग नवी मुंबई के समीप जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट से उत्तर प्रदेश के दादरी से जोड़ेगा। यह वड़ोदरा, अहमदाबाद, पालनपुर, फुलेरा तथा रेवाड़ी जैसे प्रमुख क्षेत्रों से होकर जाएगा।