समाचार
अगस्ता वेस्टलैंड मामले में सुशेन मोहन की हिरासत बढ़ी, उसकी 2 कंपनियों को भी नोटिस

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले में राउस एवेन्यू की अदालत ने 22 मई को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा कथित बिचौलिए सुशेन मोहन गुप्ता के खिलाफ दाखिल किए गए अतिरिक्त आरोप पत्र पर संज्ञान लिया।

लाइव मिंट की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी गुप्ता को तिहाड़ जेल अधिकारियों ने शुक्रवार को विशेष सीबीआई न्यायाधीश अरविंद कुमार के समक्ष पेश किया।

इस मामले में ईडी ने यह पाँचवीं चार्जशीट दायर की है। ईडी ने एक सीलबंद कवर में आरोपित से गवाह बने राजीव के बयान, कुछ डायरियों में लिखे संदिग्ध नाम, सौदे के रुपयों की जानकारी और कुछ जरूरी दस्तावेद जमा किए थे। एजेंसी के वकील डीपी सिंह और एनके मत्ता ने पहले ही अदालत के सामने दावा किया था कि दस्तावेजों को सार्वजनिक हित की वजह से सीलबंद कवर में रखा जा रहा है। इसमें गुप्ता के अगस्ता वेस्टलैंड में मनी लॉन्ड्रिंग के पुख्ता सुबूत हैं।

इसके बाद अदालत ने सुशेन मोहन गुप्ता की न्यायिक हिरासत 18 सितंबर तक बढ़ा दी है। विशेष सीबीआई अदालत ने गुप्ता और उसकी दो कंपनियों को नोटिस भी जारी किया है। इसमें डीएम साउथ इंडिया हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड और अमेरिकी पोर्टल को 18 सितंबर को अदालत में पेश होने के लिए कहा है।