समाचार
आईपीएल के अगले संस्करण में लीग प्रायोजक नहीं रहेगा वीवो, कंपनी ने लिया निर्णय

चीनी मोबाइल कंपनी वीवो इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले संस्करण में लीग प्रायोजक नहीं होगी। देश में चीनी वस्तुओं के भारी विरोध के चलते कंपनी की तरफ से मंगलवार को यह निर्णय लिया गया।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने जब प्रायोजक को बनाए रखने की बात कही तो सोशल मीडिया पर लोगों ने इसका जमकर विरोध किया। सूत्रों का कहना है कि कंपनी अगले वर्ष 2021 में प्रायोजक रहेगी, जो अनुबंध 2023 तक चलेगा। इस वर्ष के लिए नय प्रायोजक की घोषणा जल्द होगी।

आईपीएल का 13वाँ संस्करण यूएई में अगले माह 19 सितंबर से शुरू होगा। इसका फाइनल मैच 10 नवंबर को खेला जाएगा। पहले यह लीग मार्च में भारत में ही खेली जानी थी लेकिन कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसे स्थगित कर दिया गया था।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी चीनी मोबाइल कंपनी के प्रायोजक बने रहने पर सोमवार को विरोध जताया था। इसके एक दिन बाद ही वीवो के प्रायोजक के रूप से हटने की खबर सामने आई। आरएसएस-संबद्ध स्वदेशी जागरण मंच (एसजेएम) ने कहा था कि लोगों को टी-20 क्रिकेट लीग का बहिष्कार करने पर विचार करना चाहिए।