समाचार
बिहार में मतदान से पूर्व मुंगेर में दुर्गा विसर्जन के दौरान हिंसा, 1 की मौत, 20 घायल

बिहार में पहले चरण के मतदान से ठीक पहले मुंगेर में सोमवार शाम हिंसा भड़क गई। माँ दुर्गा की प्रतिमा के विसर्जन के दौरान पत्थरबाजी और फायरिंग हुई। इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और करीब 27 लोग घायल हो गए।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पूजा समितियों को 26 अक्टूबर की शाम तक मूर्तियों के विसर्जन के लिए कहा गया था लेकिन मंगलवार शाम को पंडित दीन दयाल उपाध्याय चौक पर बहुत सी मूर्तियों विसर्जन के लिए लग गईं।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पुलिस ने जल्दी-जल्दी विसर्जन को कहा था, जिस पर लोगों की बहस हो गई। बात बिगड़ने पर पुलिस ने शुरुआत में आँसू गैस के गोले दागे। बाद में उन्होंने हवाई फायरिंग कर दी। पुलिस का कहना है कि कुछ लोगों ने झड़प के दौरान हथियारों का उपयोग किया था।

खबर के अनुसार, दुर्गा पूजा का आयोजन करने वाली समितियाँ डीजे के साथ रात को मूर्ति विसर्जन के लिए आ रही थीं। रात 11.50 बजे के करीब हालात तब बिगड़े जब पुलिस ने कथित तौर पर दुर्गा प्रतिमा को विसर्जन के लिए लेकर जा रहे चार लोगों को पीट दिया। इसके बाद पूजा समितियों ने आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग शुरू कर दी।

मुंगेर एसपी और जदयू नेता की बेटी लिपि सिंह ने कहा, भीड़ ने पत्थरबाजी और फायरिंग की थी, जिसके बाद एक की जान चली गई। घायल हुए 27 लोगों में 20 पुलिसवाले हैं। पूरे शहर में फ्लैग मार्च निकाला जा रहा है। पुलिस ने 100 लोगों को हिरासत में लिया है और सभी से पूछताछ जारी है।