समाचार
काशी विश्वनाथ मंदिर-ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वेक्षण की न्यायालय ने दी अनुमति

एक बड़े विकास में वाराणसी की जिला अदालत ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा काशी विश्वनाथ मंदिर-ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वेक्षण के लिए स्वीकृति दे दी है।

टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के अनुसार, न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार को सर्वेक्षण की लागत वहन करने का भी निर्देश दिया है।

यह आदेश एक स्थानीय वकील वीएस रस्तोगी द्वारा दायर की गई याचिका पर आया था। उन्होंने ज्ञानवापी मस्जिद को हिंदुओं को सौंपने वाली भूमि की बहाली की मांग की थी। ज्ञानवापी मस्जिद प्रबंधन समिति ने याचिका का विरोध किया था।

ज्ञानपीठ मस्जिद जो काशी विश्वनाथ मंदिर से जुड़ी थी, उसको मुगल सम्राट औरंगजेब द्वारा 669 में एक हिंदू मंदिर को कथित रूप से ध्वस्त करने के बाद बनाई गई थी।

हिंदुओं का दावा है कि कथित विध्वंस स्थल पर मूल विश्वनाथ मंदिर मौजूद था। 1991 में वाराणसी जिला अदालत में हिंदुओं द्वारा एक आवेदन दायर किया गया था, जो विवादित स्थल के स्वामित्व की मांग करता है। मुस्लिम पक्ष भी मामले में एक वादी है।