समाचार
ऋषिकेष में लक्ष्मण झूला बंद होने के बाद उत्तराखंड सरकार गंगा पर नया सेतु बनाएगी

ऋषिकेश के लक्ष्मण झूला के जीर्ण-शीर्ण हालत के चलते उसे बंद कर दिया गया है। इसके बाद अब उत्तराखंड सरकार गंगा पार एक नए पुल का निर्माण करेगी।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा, “कमजोर पुल को चालू रखना जोखिम भरा हो सकता है क्योंकि आगामी कांवड़ मेला के दौरान हज़ारों भक्त नदी पार करना शुरू कर देंगे।”

सरकार अब लक्ष्मण झूला को सांस्कृतिक विरासत स्थल के रूप में संरक्षित करने के लिए विशेषज्ञ सिफारिशों की माँग कर रही है। आईआईटी रुड़की के विशेषज्ञों की टीम की सिफारिश पर शुक्रवार को पुल को बंद कर दिया गया था। उन्होंने सभी यातायात और पैदल यात्रियों के लिए पुल को तत्काल बंद करने की सिफारिश की थी।

1923 में लक्ष्मण झूला का निर्माण हुआ था। टिहरी जिले के तपोवन के दो गाँवों को यह नदी के पश्चिमी तट और पौड़ी जिले के जोंक से जोड़ता है। तीर्थयात्रियों के तपोवन और नीलकंठ मंदिर जाने के लिए यह पुल मुख्य मार्ग था।

रामायण में कहा गया है कि श्रीराम के छोटे भाई लक्ष्मण ने जट रस्सियों की मदद से नदी पार की थी और इसलिए इसका नाम लक्ष्मण झूला पड़ा। वहीं, गंगा की सौगंध, सन्यासी और सीआईडी ​​जैसी कई फिल्मों और धारावाहिकों में इस पुल को दिखाया गया है।