समाचार
एटा जिला प्रशासन ने सपा नेताओं की अवैध संपत्तियों पर चलाया बुलडोज़र, प्राथमिकी दर्ज

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार अवैध संपत्तियों के विरुद्ध अभियान जारी रखे हुए है। इसके तहत एटा जिला प्रशासन और पुलिस ने अब सपा के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष जोगेंद्र सिंह यादव की संपत्तियों को ध्वस्त कर दिया।

सपा नेताओं ने कथित तौर पर एक मार्केट कॉम्प्लेक्स और फार्म हाउस बनाने के लिए चिलासानी ग्राम सभा की भूमि पर अतिक्रमण किया था।

पूर्व विधायक गत 20 वर्ष से परिवार के साथ फार्म हाउस में रह रहे थे। सपा ने हाल ही में जोगेंद्र यादव की पत्नी रेखा को जिला परिषद अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार घोषित किया था।

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट विवेक मिश्रा ने कहा, “कई शिकायतें प्राप्त होने के पश्चात जाँच की गई। इसमें पाया गया कि दोनों ने एक मार्केट कॉम्पलेक्स और फार्म हाउस बनाने के लिए सरकारी भूमि पर कब्ज़ा किया था। ऐसे में अवैध संपत्तियों को ध्वस्त किया गया और उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई। पुलिस अब आगे की कार्रवाई करेगी।”

विध्वंस की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताते हुए एटा के वकील समूह के सपा जिलाध्यक्ष आकाश यादव ने कहा, “मामला विचाराधीन है और न्यायालय ने मालिकों की याचिका पर रोक लगाने का आदेश दिया था। हम जिला प्रशासन के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करेंगे। सपा कार्यकर्ता राज्य सरकार की तानाशाही के आगे नहीं झुकेंगे।”

बता दें कि गत एक वर्ष में पुलिस ने कथित भूमि कब्जाने और अवैध निर्माण के चार अलग-अलग मामलों में प्राथमिकी दर्ज की थी।