समाचार
उत्तर प्रदेश में ब्रह्मोस मिसाइल उत्पाद केंद्र हेतु योगी सरकार से मांगी गई 200 एकड़ भूमि

उत्तर प्रदेश में डिफेंस कॉरिडोर को बढ़ावा देने के लिए ब्रह्मोस एयरोस्पेस ने अगली पीढ़ी की अत्याधुनिक ब्रह्मोस मिसाइल के निर्माण के लिए 300 करोड़ रुपये की सुविधा स्थापित करने का प्रस्ताव दिया है।

ब्रह्मोस एयरोस्पेस के सीईओ और एमडी सुधीर कुमार मिश्रा ने मंगलवार (24 अगस्त) को यूपीईडा के सीईओ और अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर ब्रह्मोस मिसाइल बनाने के लिए डिफेंस कॉरिडोर में अपनी परियोजना के लिए 200 एकड़ भूमि की मांग की।

ब्रह्मोस एयरोस्पेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात की। ब्रह्मोस, रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और रूस के एनपीओ मशिनोस्ट्रोयेनिया का संयुक्त उद्यम है, जो दुनिया की सबसे तेज़ सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल ब्रह्मोस का डिज़ाइन, विकास और उत्पादन करता है।

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल विश्व की एकमात्र अनूठी, सटीक और अत्याधुनिक मिसाइल है। यह रूस की पी-800 ओनिक्स क्रूज़ मिसाइल की तकनीक पर आधारित है।

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मिसाइल के निर्माण के लिए आवंटित की जाने वाली भूमि पर 300 करोड़ रुपये का निवेश कर बनने वाले ब्रह्मोस उत्पादन केंद्र में करीब 500 इंजीनियरों और तकनीकी लोगों को सीधा रोजगार मिलेगा।