समाचार
“इथेनॉल से ₹20/लीटर तक सस्ता ईंधन संभव, फ्लेक्स-ईंधन इंजन नीति जल्द”- गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भरोसा दिया कि वाहन ईंधन के रूप में इथेनॉल के उपयोग से प्रति लीटर कम से कम 20 रुपये की बचत हो सकती है।

उन्होंने यह भी दावा किया कि उनका मंत्रालय जल्द फ्लेक्स-फ्यूल इंजन के लिए एक नीति लाएगा। ये इंजन आंतरिक दहन इंजन होते हैं, जो एक से अधिक ईंधन या उसी के मिश्रण पर काम करते हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आगामी नीति ऑटोमोबाइल निर्माताओं को भी अपने उत्पादन को बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित कर सकती है। उपभोक्ता सर्वोत्तम ईंधन मूल्यों का लाभ तभी उठा सकते हैं, जब मिथेनॉल, इथेनॉल, बायो-सीएनजी जैसे स्वदेशी ईंधन आयातित कच्चे तेल को कड़ी प्रतिस्पर्धा दें।

इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार नितिन गडकरी ने कहा, “अपनी अर्थव्यवस्था में हम पेट्रोल, डीजल और पेट्रोलियम उत्पादों के आयात पर आठ लाख करोड़ रुपये खर्च कर रहे हैं, जो एक बड़ी चुनौती है। राष्ट्रवादी होने के नाते मैं चाहता हूँ कि हमारा आयात कम हो और निर्यात बढ़े।”

नागपुर में भारत के पहले तरल प्राकृतिक गैस (एलएनजी) फिलिंग स्टेशन का उद्घाटन करते हुए भाजपा नेता ने बताया कि एक पारंपरिक ट्रक इंजन को एलएनजी इंजन में बदलने में करीब 10 लाख रुपये व्यय होते हैं।

अनुमान के मुताबिक, गडकरी ने कहा कि ट्रक पूरे वर्ष के आधार पर करीब 98,000 किलोमीटर तक चलते हैं। ऐसे में प्रत्येक वाहन 9 से 10 महीनों में 11 लाख रुपये की बचत करेगा, जो रूपांतरण की लागत की तेजी से वसूल करने में सहायता करेगा।