समाचार
ग्रेटा थनबर्ग के बयान पर अमेरिकी कोषाध्यक्ष- “अर्थशास्त्र की डिग्री लें, फिर बात करें”

संयुक्त राज्य अमेरिका के कोष सचिव/कोषाध्यक्ष स्टीवन मेनुचिन ने स्वीडन के कट्टरपंथी छात्र जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग जो जीवाश्म ईंधन से दूर रहने की बात करती हैं, के आह्वान की कड़ी आलोचना की है।

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार दावोस में वैश्विक आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) में वाणिज्य सचिव विल्बर रॉस के साथ एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने के दौरान जब मेनुचिन से ग्रेटा थनबर्ग द्वारा जीवाश्म ईंधन से दूर रहने की सिफारिश के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “क्या वह मुख्य अर्थशास्त्री हैं? …जब वे जाएँ और कॉलेज में अर्थशास्त्र पढ़ें तो वे वापस आकर हमें समझा सकती हैं।”

अपने समर्थकों द्वारा एक युवा पर्यावरण योद्धा के रूप में 17 वर्षीय ग्रेटा थनबर्ग को अब एक वैश्विक सेलिब्रिटी का दर्जा प्राप्त है। उन्हें टाइम मैगज़ीन के द्वारा “पर्सन ऑफ द ईयर” भी घोषित किया गया था।

पिछले सितंबर में थनबर्ग ने कहा कि न्यूयॉर्क शहर में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से बात करना समय की बर्बादी होगी।

डब्ल्यूईएफ में ट्रम्प और थनबर्ग ने, “अप्रत्यक्ष रूप से झगड़ा”, भी किया था। ट्रम्प द्वारा यह कहने के बाद कि अमेरिका एक खरब पेेड़ लगाने की पहल में शामिल होने के लिए प्रतिबद्ध है, थनबर्ग ने ट्रंप पर वार करते हुए कहा था कि जलवायु संकट को ठीक करने का मतलब केवल पेड़ों के बारे में नहीं है।