समाचार
अमेरिका ने मानवाधिकारों के उल्लंघन पर चीन के तीन बड़े अधिकारियों पर लगाया प्रतिबंध

अमेरिका ने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के तीन बड़े अधिकारियों पर मुस्लिम बहुल शिनजियांग प्रांत में उइगर मुसलमानों, कज़ाक और अन्य जातीय अल्पसंख्यकों के मानवाधिकारों का उल्लंघन करने को लेकर प्रतिबंध लगा दिया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, प्रतिबंध में चीन की सत्ताधारी पार्टी के अधिकारी चेन कुआंगू, झु हाइलुन और वांग मिंगशान शामिल हैं। अब ये अधिकारी और उनके परिवार के अन्य सदस्य अमेरिका नहीं जा सकेंगे।

इस संबंध में विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा, “अमेरिका मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर यह कार्रवाई कर रहा है। चीन के पश्चिमी भाग में उइगर मुस्लिमों की बड़ी आबादी है लेकिन वर्षों से देश उनका दमन कर रहा है। सामूहिक रूप से उन्हें हिरासत में रखा जा रहा है और जबरन जनसंख्या नियंत्रण को लागू किया जा रहा है। ऐसे में अमेरिका चुप नहीं बैठेगा।”

उन्होंने कहा, “मैं दूसरे सीसीपी अधिकारियों पर भी अतिरिक्त वीज़ा प्रतिबंध लगा रहा हूँ, जो लोगों पर अत्याचार करने के लिए ज़िम्मेदार माने जाते हैं। इस प्रतिबंध के दायरे में परिवार के सदस्य भी आएँगे।”

कई अंतर-राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों ने चीन द्वारा उइगर मुस्लिम संगठनों पर अत्याचार करने का आरोप लगाया है। उन्हें शरणार्थी शिविरों में रखा जाता है, उनकी धार्मिक स्वतंत्रता छीन ली गई है और कई तरह के उन पर प्रतिबंध लगा दिए गए हैं।