समाचार
“आईएसआईएस-के कर चुका है हमला, भारत को फिर रहना होगा सतर्क”- अमेरिका

अमेरिका ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के खतरे से भारत को सतर्क रहने के लिए कहा है। अमेरिका के उच्च अधिकारी ने कहा, “यह आतंकी संगठन पूरी दुनिया में फैल चुका है। दुनियाभर में इसकी 20 शाखाएँ खुली हैं। इसमें से एक दक्षिण एशिया में भी सक्रिय है। इसने पिछले साल भारत में आत्मघाती हमला करने की कोशिश की थी। ”

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी सीनेटर मैगी हसन ने जानकारी दी कि अमेरिका के राष्ट्रीय आतंकनिरोधक सेंटर के कार्यकारी निदेशक रशेल ट्रैवर्स ने बताया है कि आईएसआईएस के खुरासान ग्रुप (आईएसआईएस-के) ने पिछले साल भारत में आत्मघाती हमले की कोशिश की थी पर वो नाकाम रहे थे। यह आतंकी गुट आईएस के नए सरगना से अपने रिश्ते भी ज़ाहिर कर चुका है।

ट्रैवर्स ने बताया, “आईएसआईएस-के ने अफगानिस्तान के बाहर हमले करने की कोशिश की है। उन्होंने पिछले साल भारत में भी आत्मघाती हमले करने की कोशिश की पर वो ऐसा कर नहीं पाए।” मैगी हसन पिछले साल अफगानिस्तान और पाकिस्तान भी गई थीं। उन्हें अमेरिकी सेना से आईएसआईएस-के बढ़ते खतरे की जानकारी मिली थी।

मैगी हसन ने कहा, “यह आतंकी संगठन अमेरिका पर हमले कर सकता है। यह आधुनिक तकनीक से लैस है। इनमें ड्रोन चलाने की भी क्षमता है। सीरिया और ईराक में मिली कामयाबी के बावजूद यह संगठन अमेरिका के लिए खतरा बना हुआ है।”

भारत के आसपास के देशों ईरान, तुर्कमेनिस्तान, अफगानिस्तान जैसे देशों के लिए आईएस आतंकियों ने इस्लामिक स्टेट ऑफ खुरासान गुट बनाया है। खुरासान शब्द का अर्थ होता है, जहाँ से सूरज उगता है।