समाचार
योगी सरकार भूमि धोखाधड़ी रोकने के लिए ला रही 16 अंकों का यूनिक आईडी नंबर

भूमि के मामलों में धोखाधड़ी रोकने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने हर भूमि का 16 अंकों का यूनिक आईडी नंबर जारी करने का निर्णय लिया है। राजस्व विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राजस्व विभाग कृषि, आवासीय व व्यवसायिक भूमि को चिह्नित कर यूनिक आईडी नंबर जारी कर रहा है। इससे कोई भी व्यक्ति घर बैठे एक क्लिक पर भूमि की पूरी जानकारी ले सकेगा।

सभी राजस्व गाँवों में भूखंडों के लिए यूनिकोड का मूल्यांकन शुरू हो गया है। हालाँकि, कंप्यूटरीकृत प्रबंधन प्रणाली में विवादित भूखंडों को चिह्नित करने का काम राजस्व न्यायालय कर रहे हैं। यूनिक आईडी से फर्जी बैनामों और विवादित भूखंडों पर रोक लगाई जा सकेगी।

भूमि का यूनिक आईडी नंबर 16 अंकों का होगा, जिसमें पहले एक से लेकर छह अंक गाँव की जनगणना के आधार पर होंगे। सात से दस अंक भूखंड की गाटा संख्या और 11 से 14 अंक भूमि के विभाजन की संख्या के आधार पर होंगे। 15 से 16 अंक भूमि की श्रेणी होगी। राज्य के हर हिस्से की अपनी अलग पहचान होगी, जो अब भूमि विवाद के मामलों की जाँच करेगा और लोगों को धोखेबाजों के जाल में फँसने से बचाएगा।