समाचार
बुलंदशहर हिंसा- उप्र पुलिस ने गौहत्या के शक में तीन युवकों को किया गिरफ्तार

बुलंदशहर में कथित तौर पर गौहत्या और भीड़-हिंसा के आरोप में पाँच व्यक्तियों को उत्तर प्रदेश विशेष कार्य बल (एसटीएफ़) ने गिरफ्तार किया है, न्यू इंडियन एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया है।

बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने बताया कि “गौहत्या की घटना में हाथ होने के कारण नदीम, रईस और काला नामक तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। एक वाहन और एक लाइसेंसी हथियार भी गिरफ्तारी में बरामद हुआ है।“

उन्होंने यह भी कहा है, “पुलिस इस मामले में छानबीन कर रही है और तीनों व्यक्तियों को गौहत्या के आरोप में मुख्य संदिग्ध के रूप में पाए जाने पर गिरफ्तार किया गया है। और आगे की जाँच जारी है।“

भीड़-हिंसा की घटना होने के दौरान पुलिस निरीक्षक सुबोध कुमार सिंह और एक नागरिक सुमित कुमार की मृत्यु हुई थी।

भीड़-हिंसा की घटना के संदिग्धों सचिन सिंह उर्फ़ कोबरा और जॉनी चौधरी को यूपी एसटीएफ की नोएडा इकाई द्वारा बुलंदशहर के गठिया बादशाहपुर बस अड्डे से गिरफ्तार किया गया है। नोएडा एसटीएफ पास के जिले से इस जाँच में शामिल हुई।

उत्तर प्रदेश सरकार ने मृत पुलिस निरीक्षक के नाम पर एक सड़क और एक शैक्षणिक संस्थान का नाम रखने का निर्णय किया है और उनकी पत्नी और माता-पिता को क्रमशः 40 लाख रूपये और 10 लाख रूपये देने का वायदा किया है।