समाचार
वसीम रिज़वी पर “धार्मिक भावनाओं को आहत” करने के लिए प्राथमिकी दर्ज करने की मांग

मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए शिया वक्फ बोर्ड के सदस्य वसीम रिज़वी के विरुद्ध लखनऊ में शिया मौलवियों ने प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की।

सोमवार (31 मई) की रात मजलिस-ए-उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना कल्बे जवाद के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने लखनऊ के पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर से भेंट की और प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की।

उन्होंने मांग की कि बिना किसी देरी के रिज़वी द्वारा 26 आयतों को हटाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए कुरान संस्करण को मंच से हटा दिया जाए।

हाल ही में वसीम रिज़वी ने सर्वोच्च न्यायालय में एक याचिका दायर करके कुरान से 26 आयतों को हटाने की मांग की थी। इसमें उन्होंने दावा किया था कि उनकी प्रकृति हिंसक है।

इसी तरह मुजफ्फरनगर में तीन सामाजिक कार्यकर्ताओं ने जिला पुलिस से रिज़वी के विरुद्ध आपराधिक कार्रवाई करने को कहा है। शिकायत में आरोप लगाया गया कि कुरान को अपवित्र करने की कोशिश कर रहे रिज़वी के भड़काऊ पोस्ट का उद्देश्य दंगा भड़काने और भारत व अन्य देशों के बीच गलतफहमी पैदा करना है।