समाचार
दो से अधिक बच्चों के लिए योगी सरकार बना रही नई नीति, हो सकता है न मिलें सुविधाएँ

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार अब जनसंख्या नीति पर काम कर रही है। इसके तहत जिनके दो से अधिक बच्चे होंगे, उन्हें सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने या पंचायत चुनाव लड़ने से रोका जा सकता है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा, “नई नीति जल्द ही घोषित की जाएगी। हम अन्य राज्यों की जनसंख्या नीतियों का अध्ययन कर रहे हैं। उनमें से अच्छी नीतियों को लिया जाएगा और देश के सबसे अधिक आबादी वाले अपने राज्य में उसे लागू किया जाएगा।”

नीति के ड्राफ्ट का एक विशेषज्ञों की टीम अध्ययन कर रही है। विशेषज्ञ टीम से जुड़े परिवार कल्याण विभाग के निदेशक जनरल डॉक्टर बद्री विशाल ने कहा, “दक्षिण के राज्य जनसंख्या नियंत्रण करने में सफल हो गए हैं। वहीं, उत्तर भारत के राज्य इसको लेकर अब भी संघर्ष कर रहे हैं। राजस्थान और मध्य प्रदेश ने ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों को सुविधाएँ देनी बंद कर दी हैं। दो से ज्यादा बच्चे वाले पंचायत चुनाव नहीं लड़ सकते हैं। हमने इसी नीति को अपनाने का प्रस्ताव दिया है।”

सूत्रों के अनुसार, जिनके दो से अधिक बच्चे हैं, उनके लिए राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की सुविधाओं को रोकने पर भी विचार हुआ है। यह एक कठिन कदम है, जिस पर अभी चर्चा की जा रही है। हालाँकि, कुछ राज्य उन सरकारी कर्मचारियों को स्कूल शुल्क भत्ता नहीं देते हैं, जिनके दो से अधिक बच्चे हैं।