समाचार
योगी सरकार ने अवैध रूप से बने ‘उर्दू गेट’ को रामपुर में गिरवाया

उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने रामपुर जिले में बने ‘उर्दू गेट’ को जिला प्रशासन ने बुधवार (6 मार्च) को गिरवा दिया। यह द्वार समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान ने सत्ता के समय पर बनवाया था, –नवभारत टाइम्स ने रिपोर्ट किया।

बुधवार को रामपुर जिला प्रशासन ने इस द्वार पर बुलडोज़र चलवा दिया, यह द्वार मोहम्मद  अली जौहर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार के हेतु बनवाया गया था, जिसकी संस्थापना समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान की थी।

आरोप यह है कि यह द्वार आज़म खाने ने अपने सत्ता के समय सरकारी ज़मीन को हथिया कर बनवाया था। जिस सड़क पर इस द्वार का निर्माण किया गया है वह एक सार्वजनिक सड़क है।

रामपुर जिला के जिला प्रशासक अनजन्य कुमार सिंह ने बताया कि “इस द्वार के निर्माण के लिया न ही तो किसी नियम-कानून की पलना की गई थी और ना ही प्रशासन से किसी भी प्रकार की अनुमति ली गई थी”।

साथ ही बताया गया कि इस द्वार के निर्माण से पहले यह सड़क भारी वाहन चालकों द्वारा इस्ताम की जाती थी क्योंकि यह रामपुर को उत्तराखंड से जोड़ती है।  इस द्वार के निर्माण बाद वाहन चालकों के लिए बहुत ज़्यादा दिक्क्त पैदा हो गई है क्योंकि जिस सड़क सड़क से अब यात्रियों को निकलना पड़ता है, वह एक बहुत ही ज़्यादा आबादी वाला इलाका है, जिसके कारण उस जगह ज़्यादा ट्रैफिक जाम हो जाता है।