समाचार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ‘लव जिहाद’ को लेकर तेवर कड़े, सख्त कार्रवाई के निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गृह और पुलिस विभाग के अधिकारियों को राज्य में लव जिहाद की घटनाएँ रोकने के लिए व्यापक कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा, “महिलाओं को बहला-फुसलाकर धर्मांतरण करने की कोशिश करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक करके बीते दिनों आई महिला उत्पीड़न की घटनाओं पर गुस्सा ज़ाहिर किया। इस दौरान मेरठ, कानपुर और लखीमपुर खीरी में धोखे से लड़कियों को प्रेमजाल में फंसाने की घटनाओं की समीक्षा की गई।

योगी आदित्यनाथ ने कहा, “सांप्रदायिक माहौल को बिगड़ने से रोकने और महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि धर्म की आड़ में उन पर अत्याचार न हों। जहाँ भी लड़कियों को धोखे में रखकर शादी करने और उसके बाद उन्हें प्रताड़ित करने के मामले जानकारी में आएं, उन पर पुलिस त्वरित कार्रवाई करे।”

मुख्यमंत्री ने गृह विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए व्यापक कार्ययोजना बनाएँ। इस तरह की सूचनाओं को गंभीरता से लिया जाए और कड़ी कार्रवाई की जाए। अधिकारी एक रणनीति तैयार करें औ देखें कि इसके लिए नए कानून की आवश्यकता है कि नहीं।”

बता दें कि कानपुर में लव जिहाद के पाँच मामले आए थे। इन्हें लेकर वहाँ विरोध भी हुआ। एक पीड़िता का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। लखीमपुर और मेरठ में दो लड़कियों की हत्या हो गई थी। दोनों मामलों को भी लव जिहाद से जोड़कर देखा जा रहा था। मेरठ में हत्या के अलावा भी पाँच मामले आए, जो लव जिहाद से जुड़े हुए थे।