समाचार
ओपी राजभर उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से बर्खास्त, अन्य नेताओं पर योगी का कड़ा रुख

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुहेल देव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के अध्यक्ष ओपी राजभर को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की सिफारिश को राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया है। भाजपा नेताओं को धमाकाने के आरोप में उनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया था।

मुख्यमंत्री योगी ने कड़ा रुख अपनाते हुए राजभर की पार्टी के उन सभी नेताओं को हटा दिया है, जिनको मंत्री का दर्जा दिया गया था। साथ ही पार्टी के अन्य सदस्यों को कई निगमों और परिषदों के अध्यक्ष पद से भी तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।

उप्र मुख्यमंत्री ने प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक से पिछड़ा वर्ग कल्याण और दिव्यांग जन कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर को मंत्रिमंडल से तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करने की सोमवार को सिफारिश की थी।

एसबीएसपी उत्तर प्रदेश में भाजपा की सहयोगी पार्टी है। 2017 के विधानसभा चुनाव में उसने चार सीटें जीती थीं। इस बार भाजपा के साथ गठबंधन नहीं होने के कारण राजभर की पार्टी ने लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश से 39 प्रत्याशी उतारे दिए हैं।

लोकसभा चुनाव में राजभर ने अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए भाजपा पर हमला बोला था। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं को एसबीएसपी उम्मीदवार घोसी संसदीय सीट से चुनाव नहीं लड़ रहा था इसकी गलत सूचना फैलाने पर जूतों से मारने की धमकी दी थी। इसका वीडियो भी वायरल हो गया था।