समाचार
उन्नाव दुष्कर्म मामला- कुलदीप सिंह सेंगर को उम्रकैद की सज़ा, 25 लाख का जुर्माना लगा

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में दोषी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दिल्ली के तीस हजारी न्यायालय ने शुक्रवार को उम्रकैद की सज़ा सुनाई। न्यायालय ने कहा, “दोषी मौत होने तक जेल में रहेगा। साथ ही उसे पीड़िता को 25 लाख रुपये का मुआवजा भी देना पड़ेगा।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, अदालत ने कहा, “सेंगर एक जनप्रतिनिधि था मगर उसने लोगों का विश्वास तोड़ा। उसने जो भी किया, वह दुष्कर्म पीड़िता को डराने-धमकाने के लिए था। हमें नरमी दिखाने वाली कोई परिस्थिति नहीं दिखी। दोषी को जुर्माना महीनेभर के अंदर भरना होगा।”

न्यायालय ने पीड़िता और उसके परिवार की सुरक्षा बढ़ाने और सुरक्षित घर मुहैया करवाने के लिए सीबीआई को आदेश दिया। अदालत ने कहा, “पीड़िता और उसका परिवार अगले एक साल तक दिल्ली महिला आयोग द्वारा मुहैया करवाए गए घर में ही रहेगा। इसके लिए यूपी सरकार हर माह पीड़िता और उसके परिवार को 15 हजार रुपये दे।”

बता दें कि सोमवार को दिल्ली के न्यायालय ने कुलदीप सिंह सेंगर को नाबालिग से दुष्कर्म का दोषी पाया था। मंगलवार को सजा पर बहस पूरी ना होने पर 20 दिसंबर को सजा पर बहस की तारीख तय की गई थी।

उन्नाव में कुलदीप सेंगर और उसके साथियों ने 2017 में नाबालिग को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसी वर्ष जुलाई में पीड़ित की कार की ट्रक से भिड़ंत हो गई थी। हादसे में पीड़ित की चाची और मौसी की मौत हो गई थी। पीड़िता और उसके वकील तभी से दिल्ली एम्स में भर्ती हैं। सेंगर फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद है।