समाचार
अमेरिका ने डब्ल्यूएचओ की कोरोना उत्पत्ति की जाँच में चीन के हस्तक्षेप पर चिंता जताई

राष्ट्रपति जो बाइडन के नेतृत्व वाले संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) प्रशासन ने वुहान में कोविड-19 की उत्पत्ति की विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की हालिया जाँच में चीनी सरकार के हस्तक्षेप की संभावना पर चिंता व्यक्त की है।

लाइवमिंट की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) जैक सुलिवन ने कहा, “हमें इस बात की गहरी चिंता है कि कोविड-19 जाँच के शुरुआती निष्कर्षों को संचारित किया गया था और उन तक पहुँचने के लिए उपयोग की जाने वाली प्रक्रिया के बारे में सवाल किए गए थे।”

चीनी सरकार के हस्तक्षेप या किसी तरह के बदलाव से मुक्त होने के लिए जाँच की आवश्यकता पर ज़ोर देते हुए सुलिवन ने कहा, “इस महामारी को बेहतर ढंग से समझने और आगे के लिए तैयार होने के लिए चीन को प्रकोप के शुरुआती दिनों के अपने आँकड़े उपलब्ध करवाने चाहिए।”

यह जवाब तब आया है, जब डब्ल्यूएचओ विशेषज्ञों की एक टीम ने वुहान में कोविड-19 की उत्पत्ति की जाँच शुरू की। गत मंगलवार को उसने कहा कि चीन में किसी भी पशु प्रजाति में कोरोनावायरस परिसंचरण का कोई सबूत नहीं पाया गया। अमेरिका ने डब्ल्यूएचओ के निष्कर्षों को स्वीकार करने से मना कर दिया है और कहा है कि वह स्वतंत्र रूप से जाँच कर परिणामों को खुद ही सत्यापित करेगा।